Tuesday, April 23, 2024
spot_img
HomeViral VideoInspirational Storiesडाकू ददुआ का खात्मा, 100 से ज्यादा एनकाउंटर, जानें कौन है IPS...

डाकू ददुआ का खात्मा, 100 से ज्यादा एनकाउंटर, जानें कौन है IPS Amitabh Yash, जिन्हें बनाया गया UP का नया एडीजी लॉ एंड ऑर्डर

spot_img
spot_img

IPS Amitabh Yash : आईपीएस अमिताभ यश को उत्तर प्रदेश का नया एडीजी ला एंड ऑर्डर बनाया गया है। IPS अमिताभ यश UP-STF के साथ क़ानून व्यवस्था का अतिरिक्त प्रभार भी देखेंगे। शासन की ओर से इसे लेकर शुक्रवार को आदेश जारी किया है। IPS अमिताभ यश की गिनती एनकाउंटर स्पेस्लिस्ट के तौर पर होती है। कुख्यात डकैत ददुआ से लेकर अतीक अहमद और मुख्तारी अंसारी गैंग के कई शूटर्स का एनकाउंटर इन्होंने ही किया है। यूपी पुलिस में ये एक ऐसा नाम है, जिसके बारे में कहा जाता है कि अपराध खत्म करना है तो IPS अमिताभ यश (IPS Amitabh Yash) को बुलाओ। आइए जानते है

जानें कौन है IPS Amitabh Yash

आईपीएस अमिताभ यश (IPS Amitabh Yash) मूल रूप से बिहार के भोजपुर के निवासी हैं। इनके पिता रामयश सिंह भी आईपीएस अफसर थे। अमिताभ यश की पढ़ाई दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से हुई है। वह आईआईटी कानपुर के छात्र भी रहे हैं। शुरू से ही इनकी ख्वाहिश थी एक आईपीएस अफसर बनने की, पढ़ाई पूरी करने के बाद इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा दी, जिसे क्वालिफाई कर वह आईपीएस ऑफिसर बने।

मिल चुके है राष्ट्रपति के दो गैलेंट्री अवॉर्ड

अमिताभ यश 1996 बैच केआईपीएस (IPS Amitabh Yash) हैं। मई 2017 में इन्हें STF का आईजी बनाया गया था। इसके बाद 2021 में उनको एसटीएफ के एडीजी का जिम्मा दिया गया। इन्हें राष्ट्रपति के दो गैलेंट्री अवॉर्ड भी मिल चुके हैं।

24 घंटे एक्टिव रहते है अमिताभ यश

अमिताभ यश (IPS Amitabh Yash) बतौर पुलिस कप्तान की पहली तैनाती यूपी के संतकबीरनगर जिले में हुई। ये शुरु से ही बेखौफ थे, ऐसा कहा जाता है कि अमिताभ यश 24 घंटे एक्टिव रहते हैं। उन्हें बस एक ही चीज नहीं है पसंद है, तो वो है अपराध। कुछ ही दिनों में संतकबीरनगर के लोगों के लिए अमिताभ हीरो बन गए। यहां के लोगों में यह चर्चा आज भी है कि ‘रात के दो बज रहे होते, फिर भी कॉल करने पर कप्तान साहब फोन उठा लेते है।

डकैत ददुआ का खात्मा

यूपी का बुंदेलखंद, यहां कभी कुख्यात डाकू ददुआ के आतंक था। इसके लिए किसी का भी मर्डर करना बेहद आम सी बात थी। साल 2007 में मायावती की सरकार के दौरान विपक्ष बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर दबाव बना रहा था। ऐसे में ददुआ पर लगाम लगाना जरूरी हो गया था, उस दौरान मायावती सरकार के बड़े अफसरों की नजर अमिताभ यश पर पड़ी। तभी ददुआ को पकड़ने के लिए एसटीएफ की टीम बनी, जिसमें बतौर एसएसपी अमिताभ यश शामिल हुए। इसके बाद इस टीम ने ददुआ को एनकाउंटर में ढेर कर दिया। इसके बाद कुख्यात बदमाश ठोकिया के खिलाफ अभियान चलाया गया, जिसे एक एनकाउंटर में मार गिराया गया।

100 से ज्यादा बदमाशों का किया एकाउंटर

अमिताभ यश ने अबतक अपनी सर्विस के दौरान 100 से ज्यादा बदमाशों को मार गिराया है। यूपी में अतीक अहमद और मुख्तारी अंसारी गैंग के कई शूटर्स का एनकाउंटर किया है। इसके अलावा प्रदेश में आयुष भर्ती घोटाला, TET पेपर लीक मामला जैसे कई बड़े घोटालों की जांच कर इन मामलों का खुलासा किया और आरोपियों को जेल भेजा। यूपी के कुख्यात विकास दुबे के गैंग का खात्मा भी अमिताभ यश की अगुवाई में ही किया गया था।

कई जिलों के रहे कप्तान

अमिताभ यश हरदोई, जालौन, सहारनपुर में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा नोएडा, सीतापुर, बुलंदशहर और कानपुर में बतौर एसपी और एसएसपी रहते हुए क्राइम कंट्रोल करने में अहम रोल निभाया है।

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल