Tuesday, April 23, 2024
spot_img
HomeLife StyleHealthSuhani Bhatnagar Death : वाटर रिटेंशन से गई दंगल की ‘छोटी बबीता'...

Suhani Bhatnagar Death : वाटर रिटेंशन से गई दंगल की ‘छोटी बबीता’ की जान, जानिए क्या है इस बीमारी के लक्षण और कैसे करें बचाव

spot_img
spot_img

Suhani Bhatnagar Death : आमिर खान की फिल्म ‘दंगल’ में छोटी बबीता का किरादार निभाने वाली चाएल्ड आर्टिस्ट सुहानी भटनागर का महज 19 साल की उम्र में निधन हो गया है। कुछ दिन पहले सुहानी के पैर में फ्रैक्चर हुआ था। वो दिल्ली के एम्स हॅास्पिटल में काफी वक्त से एडमिट थीं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दवाईयों के साइड इफेक्ट के चलते सुहानी की पूरी बॉडी में पानी भर गया था। इसी रिएक्शन के चलते उनका निधन (Suhani Bhatnagar Death) हो गया, लेकिन क्या आप जानते है कि ये वाटर रिटेंशन (Water Retention) क्या होता है, ये कितना खतरनाक है इसके क्या लक्षण है और इससे कैसे बचा जा सकता है।

Suhani Bhatnagar Death : जानें क्या है वाटर रिटेंशन

दरअसल, वॉटर रिटेंशन एक ऐसी खतरनाक बीमारी है, जिसकी वजह से शरीर के अंदर पानी भरने लगता है और इस कारण पूरी बॅाडी फूलने लगती है। इसकी वजह से हाथ, पैर, चेहरे और पेट की मांसपेशियों में सूजन बढ़ जाती है। वजन हर दूसरे दिन कम और ज्यादा होता रहता है। अगर इस गंभीर बीमारी की शुरुआत में ही पहचान कर लिया जाए तो इसे रोका जा सकता है, लेकिन अगर इसके लक्षण को अनदेखा करते हैं तो परेशानी बड़ा रूप ले सकती है, इसलिए जब भी वॉटर रीटेंशन के लक्षण नजर आए तो बिना घबराएं डॉक्टर के पास जाना चाहिए, आइए जानते हैं आखिर वॉटर रिटेंशन (Water Retention) क्या होता है और इससे बचने के लिए क्या करना चाहिए।

वॉटर रिटेंशन के क्या-क्या लक्षण हैं

  1. पैरों, टखनों में सूजन
  2. त्वचा लाल होना और उसमें खिचाव
  3. हाथ और पैर की उंगलियां का फूलना
  4. उंगलियों में सूजन आ जाना
  5. अचानक से वजन बढ़ जाना

वॉटर रीटेंशन का क्या कारण है

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, वॉटर रीटेंशन एक नहीं कई कारणों से हो सकता है, हालांकि, इसका मुख्य कारण नमक ज्यादा खाना है। जब शरीर में ज्यादा नमक की मात्रा पहुंचती है तो सोडियम का लेवल बढ़ जाता है। यही कारण है कि वॉटर रीटेंशन से बचने के लिए कम नमक खाने या बिल्कुल छोड़ने की सलाह दी जाती है। बता दें कि महिलाओं में हार्मोनल असंतुलन, ज्यादा शुगर का सेवन, हार्ट और लीवर की गंभीर बीमारी की वजह से वॉटर रीटेंशन हो सकता है. इसलिए सावधानी बरतनी चाहिए।

जानें कैसे करें वॉटर रिटेंशन से बचाव

  1. खाने में हरी सब्ज़ियां और नट्स शामिल करें.
  2. आलू, केला और अखरोट खाने में शामिल करें.
  3. विटामिन सी से भरपूर चीजें खाएं.
  4. तनाव से दूरी बनाएं, इससे वॉटर रीटेंशन काफी हद तक दूर होता है.

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें।

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल