Tuesday, May 28, 2024
spot_img
HomeFacts of IndiaShardiya Navratri 2023 : राजा की चिता पर विराजमान है मां काली,...

Shardiya Navratri 2023 : राजा की चिता पर विराजमान है मां काली, नवविवाहितों के लिए वरदान है ये मंदिर

spot_img
spot_img

Maa kali Temple : इन दिनों पूरे देश में बड़े ही शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri 2023) का पर्व मनाया जा रहा है, इस दौरान मां दुर्गा के 9 अलग-अलग स्वरूपों की पूजा होती है। आज सप्तमी तिथि है, इस दिन मां दुर्गा के सातवें रूप कालरात्रि देवी, जिन्हें हम मां काली भी कहते है उनके दर्शन का विधान है। आज मां काली के सभी मंदिरों में उनके दर्शन को भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। वैसे तो पूरे देश में मां काली के कई मंदिर है, लेकिन आज हम आपको माता के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जो एक चिता के ऊपर बनाई गई है। इसके पीछे का रहस्य जानकर आप हैरान हो जाएंगे। तो चलिए जानते है कि आखिर ये मंदिर कहां स्थित है और इससे जुड़े चमत्कार के बारे में।

Maa kali Temple : यहां स्थित है मंदिर

हम जिस मंदिर की बात कर रहें है वो बिहार के दरभंगा में स्थित मां काली का मंदिर है, जो चिता पर बना हुआ है। यह मंदिर श्मशान घाट पर है, इसे श्यामा माई के नाम से भी जाना जाता है। मान्‍यता है कि इस मंदिर में मां श्‍यामा काली के दर्शन मात्र से भक्तों की सभी मुरादें पूरी हो जाती हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि ये किसकी चिता है और मंदिर का निर्माण वो भी चिता पर ऐसा क्यों, तो आपको बता दें कि इसके पीछे भी एक रहस्य छुपा हुआ है। चलिए इसके बारे में भी बताते है…

यह भी पढ़ें-भारत का एक ऐसा चमत्कारिक मंदिर, जहां देवी की मूर्ति दिन में तीन बार बदलती है अपना स्वरूप

जानिए किसकी है चिता?

इस मंदिर की निर्माण 1933 में महाराजा रामेश्‍वर सिंह के वंशज दरभंगा के महाराज कामेश्वर सिंह ने की थी। मां श्‍यामा माई का यह मंदिर महाराजा रामेश्वर सिंह की चिता पर बनाया गया है। इसके पीछे की एक खास वजह है, बता दें कि महाराजा रामेश्वर सिंह देवी के विशेष साधक थे। मां प्रति उनकी गहरी श्रद्धा थी। यहां तक कि अब इस मंदिर को रामेश्वरी श्यामा माई के नाम से जाना जाता है।

यह भी पढ़ें- भारत के इस मंदिर का कुंड है बेहद ही चमत्कारिक, देता है आपदा आने का संकेत, बदल जाता है पानी का रंग

मंदिर की आरती है प्रसिद्ध

इस मंदिर में मां काली के गले में 52 मुंडों की माला है। वहीं इस मंदिर की आरती काफी प्रसिद्ध मानी जाती है, इसमें शामिल होने के लिए भक्‍त घंटों तक इंतजार करते हैं। खासतौर पर नवरात्रि में तो यहां भक्तों का भारी हुजूम उमड़ती है।

नवविवाहित जोड़ों के लिए वरदान है मंदिर

वैसे हिंदू धर्म में शादी के 1 साल बाद तक दूल्‍हा-दुल्‍हन को श्मशान घाट में जाने की मनाही होती है, लेकिन इस मंदिर में माता के दर्शन को दूर-दूर से दर्शन नवविवाहित जोड़े आते है। इसके पीछे की मान्‍यता है कि ऐसा करने से उनका दांपत्‍य जीवन सुखी रहता है। वहीं इस मंदिर में वैदिक और तांत्रिक दोनों विधियों से मां काली की पूजा की जाती है।

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

3 COMMENTS

  1. […] यह भी पढ़ें- Maa kali Temple : राजा की चिता पर विराजमान है मां काली, नवविवाहितों के लिए वरदान है ये मंदिर […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल