Tuesday, April 23, 2024
spot_img
HomeNationalभाजपा जैसी बड़ी पार्टी का मुकाबला करने के लिए करनी पड़ेगी बड़ी...

भाजपा जैसी बड़ी पार्टी का मुकाबला करने के लिए करनी पड़ेगी बड़ी तैयारी- अखिलेश यादव

spot_img
spot_img

Akhilesh Yadav Varanasi Visit : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) सोमवार को एक दिवसीय वाराणसी दौरे पर वाराणसी पहुंचें है। इस दौरान उन्होंने मुर्दहा में समाजवादी पार्टी की सहयोगी पार्टी नेशनल इक्वल पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन किया। इसके बाद मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने 2024 के इलेक्शन को लेकर बड़ा दावा करते हुए कहा कि एतेहासिक परिणाम आएगा और बड़ा बदलाव होगा। घर-घर बैठा बेरोजगार ही लोकतंत्र रास्ता निकालेगा।

लोकतंत्र में इस तरह के परिणाम आते रहते हैं- अखिलेश

विधानसभा चुनाव के चार राज्यों के आए परिणामों और इंडिया गठबंधन को लेकर उन्होंने कहा कि हम निराश नहीं है। राजनीतिक लोकतंत्र में इस तरह के परिणाम आते रहते हैं। मान लीजिए मौं जिस लोकसभा के क्षेत्र में मैं बैठा हूं, यहां 5 लाख वोट से भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल कर ली है इसका मतलब यह नहीं कि वहां सबका साथ, सबका विकास, सबका सम्मान हो रहा हो। ऐसे अभी भी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो निराशा बैठे हैं, इन्हें उम्मीद थी लेकिन इनकी उम्मीद तोड़ दी गई।

लड़ाई लंबी है-अखिलेश

अखिलेश ने कहा कि ऐसे राजनीतिक परिणाम आते रहते हैं और जो भी परिणाम आएंगे और जो भी पॉलीटिकल पार्टियां होगी वो इसे स्वीकार करेंगी। लड़ाई लंबी है, इन परिणामों से हमें और जिन लोगों को मुकाबला करना है उन्हें आगे बहुत बड़ी तैयारी करनी पड़ेगी। साथ ही अनुशासन में रहते हुए हर चीज का मुकाबला करना पड़ेगा।

जाति जनगणना को लेकर कहा

अखिलेश यादव ने जाति जनगणना के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हम लोगों को जातियों में नहीं बांट रहे हैं, जो लोग इसे नहीं समझ पा रहे हैं उन्हें मंडल कमीशन की प्रस्तावना पढ़नी चाहिए, क्योंकि प्रस्तावना में मंडल कमीशन में तमाम पहलुओं को देखकर के यह माना की जाति के आधार पर लोग गरीब हैं, इसलिए जाति के आधार पर आरक्षण होना चाहिए जो बात हम लोग कहते हैं कह रहे हैं।

विधानसभा में जाति जनगणना को लेकर उठाए गए सवाल को लेकर उन्होंने कहा हां मैंने तर्क दिया कि जब 2017 में मेरिट से पुलिस की भर्ती हुई थी पुरानी अर्थव्यवस्था थी और जब भर्ती का रिजल्ट आ गया तो तमाम नौजवान नौकरी पा गए थे, लेकिन तभी सरकार ने पुराने आरक्षण की व्यवस्था बदल दी और नए आरक्षण की व्यवस्था लागू कर दी तो 1700 नौजवानों को नौकरी नहीं मिल सकी, जो पिछड़े और दलित नोवाजन थे। इसलिए हमने जाति जनगणना की मांग की। उन्होंने कहा कि जाति जनगणना होगी और होकर रहेगी समय लग सकता है, लेकिन देश के बड़े पैमाने पर आबादी चाहती है कि जाति जनगणना हो।

हिंदुत्व और सनातन धर्म पर कही ये बात

हिंदुत्व और सनातन धर्म को लेकर उन्होंने कहा कि हिंदू जो है वो हिंदू है और सनातन जो है वो सनातन धर्म सनातन है। गठबंधन को लेकर कहा कि हमारा लक्ष्य है बीजेपी का मुकाबला करना है। जिन किसानों की आज आय दोगुनी नहीं है, इतने युवा बेरोजगार बैठे हैं, महंगाई बढ़ गई है ये सभी एक बड़े सवाल है इन सवालों के साथ ही हम उठ बैठकर रास्ता निकालेंगे।

इस अवसर पर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं नेशनल इक्वल पार्टी को धन्यवाद देना चाहता हूं साथ ही उनके संगठन के पदाधिकारियों और समाजवादी पार्टी के सभी कार्यकर्ता नेता जो यहां पर हमारे पास है और और यहां तक नहीं पहुंच पाए है मैं उनसभी को बधाई और मुबारकबाद देना चाहता हूं।

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें।

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल