Tuesday, April 23, 2024
spot_img
HomeLife StyleHealthPoonam Panday Death : सर्वाइकल कैंसर से एक्ट्रेस पूनम पांडे का निधन!...

Poonam Panday Death : सर्वाइकल कैंसर से एक्ट्रेस पूनम पांडे का निधन! जानें इस बीमारी के लक्षण और बचाव

spot_img
spot_img

Poonam Panday Death : शुक्रवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस और मॉडल पूनम पांडे (Poonam Pandey) के निधन की खबरें सामने आती रहीं। मौत की खबर शुक्रवार की सुबह उनके ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर की गई पोस्ट से यह खुलासा हुआ है, कि वह लंबे समय से सर्वाइकल कैंसर से पीड़ित थीं। वहीं दूसरी ओर 24 घंटे के बाद पूनम पांडे ने खुद इस बात की जानकारी दी है कि वह जिंदा है और उनकी मौत की झूठी खबर एक पब्लिकसिटी स्टंट थी। उन्होंने सर्वाइकल कैंसर के खिलाफ जागरूकता फैलाने के लिए ये तरीका अपनाया था। ऐसे में आइए जानते है कि आखिर सर्वाइकल कैंसर (Cervical Cancer) क्या है, इसके क्या लक्षण है, जिसे लेकर एक्ट्रेस को अवेरनेस के नाम पर इसतरह अपने मौत की फेक पोस्ट शेयर करनी पड़ी।

सर्वाइकल कैंसर क्या है (What Is Cervical Cancer)

”सर्वाइकल कैंसर (Cervical Cancer) एक प्रकार का कैंसर है जो गर्भाशयग्रीवा (cervix या cervix of uterus) में शुरू होता है. बच्चेदानी का मुंह जिसे सर्विक्स कहते हैं, वहां पर होने वाले कैंसर को सर्वाइकल कैंसर कहते हैं. यौन संबंध के जरिए ह्यूमन पेपिलोमावायरस (एचपीवी) वायरस किसी व्यक्ति के शरीर में दाखिल हो जाता है और इस कैंसर का कारण बनता है। अगर सही समय पर इसकी जांच हो जाए तो इस बीमारी को बढ़ने से रोका जा सकता है।

सर्वाइकल कैंसर के लक्षण (Symptoms of Cervical Cancer)

पीरियड्स के बाद असामान्य रक्तस्राव (स्पॉटिंग)
-संभोग के बाद रक्तस्राव होना
-मासिक धर्म में रक्तस्राव जो लंबे समय तक रहता है या सामान्य से अधिक भारी होता है
-मेनापॉज के बाद रक्तस्राव
-पेल्विस या पीठ के निचले हिस्से में लगातार दर्द रहना
-पेशाब करते समय दर्द 
-वजन का अत्यधिक बढ़ना
-लगातार थकान और ऊर्जा की कमी
-पेट में दिक्कतें जैसे कब्ज या दस्त
-लगातार थकान और ऊर्जा की कमी

सर्वाइकल कैंसर के कारण क्या हैं?

सर्वाइकल कोशिकाओं और सर्वाइकल कैंसर में बदलाव लगभग हमेशा ह्यूमन पेपिलोमावायरस (HPV) के कारण होते हैं जो यौन संपर्क के माध्यम से संचारित होते हैं। HPV वायरस से जननांग मस्से हो सकते हैं। HPV वैक्सीन, सर्वाइकल कैंसर स्क्रीनिंग से इसका जल्द पता लगाया जा सकता है।

अगर मुख्य कारणों की बात करें तो यौन संचारित संक्रमणों के संपर्क में आने की संभावना अधिक होना (उदाहरण के तौर पर, कम उम्र में पहली बार यौन संबंध बनाना, एक से अधिक यौन साथी होना, या जिनके यौन संचारित संक्रमणों के जोखिम कारक हैं वैसे यौन साथी होना), मौखिक गर्भ निरोधकों (जन्म नियंत्रण की गोलियां) का उपयोग करना, सिगरेट पीना (धूम्रपान करना), कमज़ोर प्रतिरक्षा प्रणाली होना (कैंसर या एड्स जैसे विकार के कारण या कीमोथेरपी दवाओं या कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स जैसी दवाओं के कारण)।

HPV संक्रमण से कैसे बचें

मौखिक, जननांग या गुदा संपर्क सहित किसी भी प्रकार की यौन गतिविधि के माध्यम से HPV संचारित हो सकता है। HPV संक्रमण बहुत आम है, और लगभग 80% यौन सक्रिय लोग अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार HPV संक्रमण के संपर्क में आते हैं। कई HPV संक्रमण केवल थोड़े समय तक रहते हैं, लेकिन कुछ लोग HPV से एक से अधिक बार संक्रमित हो सकते हैं, और कुछ HPV संक्रमण वर्षों तक रहते हैं।

सर्वाइकल कैंसर का उपचार ?

सर्वाइकल कैंसर को सही समय पर पहचानने से इसे काफी हद तक रोका जा सकता है। सर्वाइकल कैंसर का उपचार कैंसर के स्टेज पर निर्भर करता है। इसमें सर्जरी, विकिरण चिकित्सा और कीमोथेरपी से इलाज किया जाता है, तो अगर आपको सर्वाइकल कैंसर का कोई भी लक्षण दिखता है तो तुरंत oncologist doctor से संपर्क करें। साथ ही साथ HPV से बचाव और सुरक्षित यौन संबंध से सर्वाइकल कैंसर से काफी हद तक बचा जा सकता है।

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें।

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल