Wednesday, July 24, 2024
spot_img
spot_img
HomeNationalLal krishna Advani Bharat Ratna : किसे मिलता है भारत रत्न, जानें इस...

Lal krishna Advani Bharat Ratna : किसे मिलता है भारत रत्न, जानें इस पुरस्कार से सम्मानित लोगों को मिलती हैं क्या-क्या सुविधाएं?

spot_img
spot_img
spot_img

Lal krishna Advani Bharat Ratna : बीजेपी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani Bharat Ratna) को सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित करने का ऐलान किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार 3 फरवरी को सोशल मीडिया साइट एक्स पर उक्त जानकारी दी। बता दें कि, बीजेपी के पितामह कहे जाने वाले एलके.आडवाणी इस साल यह सम्मान पाने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। उनसे पहले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कपूर्री ठाकुर को 26 जनवरी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। क्या आप जानते है कि भारत रत्न किसे मिलता है और इससे सम्मानित व्यक्ति को क्या-क्या मिलता है।

भारत रत्न भारत का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान

बता दें कि, भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान 2 जनवरी 1954 को स्थापित किया गया था। तब से यह पुरस्कार देश के प्रति अमूल्य योगदान के लिए किसी भी जाति, धर्म, लिंग, व्यवसाय या क्षेत्र के व्यक्ति को दिया जा सकता है. इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, समाज सेवा और खेल शामिल हैं।

भारत रत्न से वीआईपी का दर्जा

भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति देश वीआईपी में शामिल होता है। भारत रत्न को प्रोटोकॉल में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, उप प्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, संसद के दोनों सदनों में विपक्ष के नेता के बाद जगह मिलती है। भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को कोई राशि नहीं मिलती, लेकिन कैबिनेट मंत्री बराबर वीआईपी का दर्जा मिलता है।

अबतक कितनी हस्तियों को मिल चुका है भारत रत्न

आजाद भारत के पहले गवर्नर-जनरल और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालाचारी, दूसरे राष्ट्रपति और भारत के पहले उपराष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन और नोबेल पुरस्कार विजेता और भौतिक वैज्ञानिक सीवी रमन को 1954 में सम्मानित किया गया था। उस समय देश के राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद थे। अब तक अलग-अलग क्षेत्रों की 50 हस्तियों को भारत रत्न से नवाजा जा चुका है। ये सम्मान गैर भारतीयों को भी दिया गया है, हालांकि सम्मानित हुए व्यक्तियों में अबतक ज्यादातर राजनेता ही रहे हैं। मरणोपरांत सर्वप्रथम लाल बहादुर शास्त्री को पुरस्कार दिया गया था।

शुरुआत में यह सिर्फ जीवित व्यक्तियों के लिए था, लेकिन 1955 में नियमों में सुधार किया गया। सम्मानित व्यक्ति को राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक सनद (सर्टिफिकेट) और एक पीपल के पत्ते के आकार का पदक मिलता है। यह सम्मान 13 जुलाई 1977 से 26 जनवरी 1980 तक निलंबित भी किया गया था।

वहीं राजनीति से इतर दूसरे क्षेत्रों में भारत रत्न मिलने वाली कुछ शख्सियत हैं- समाजसेविका मदर टेरेसा, अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन, गायिका लता मंगेशकर, उस्ताद बिस्मिल्लाह खां, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, संगीतकार भूपेन हजारिका।

जानें भारत रत्न देने की क्या है प्रक्रिया

भारत रत्न पुरस्कार किसी औपचारिक नामांकन प्रक्रिया के अधीन नहीं है। देश के प्रधानमंत्री किसी भी व्यक्ति को पुरस्कार के लिए नामित कर सकते हैं। इसके अलावा, मंत्रिमंडल के सदस्य, राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी प्रधानमंत्री को सिफारिशें भेज सकते हैं। इन सिफारिशों पर प्रधानमंत्री कार्यालय में विचार-विमर्श होता है और उसके बाद राष्ट्रपति को अंतिम मंजूरी के लिए भेजा जाता है। इसमें हर साल अधिकतम 3 हस्तियों को पुरस्कार देने का प्रावधान है। हालांकि ये जरूरी नहीं है कि हर साल भारत रत्न सम्मान दिया ही जाना है। किसी व्यक्ति के जीवन काल या मरणोपरांत दोनों तरह से दिया जाता है। राष्ट्रपति की स्वीकृति के बाद ही किसी व्यक्ति को भारत रत्न से सम्मानित किया जाता है।

भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को क्या-क्या मिलता है

पीपल के पत्ते के आकार का पदक
भारत के राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक सनद (प्रमाणपत्र)
कैबिनेट मंत्री के बराबर वीआईपी का दर्जा, जबकि किसी राज्य में जा रहे हैं तो राज्य अतिथि का दर्जा भी मिलता है
स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों में विशेष अतिथि के तौर पर शामिल हो सकते हैं
भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को हवाई जहाज (एग्जीक्यूटिव क्लास), ट्रेन और बस में निशुल्क यात्रा की छूट
राजनयिक पासपोर्ट का अधिकार
भारतीय वरीयता क्रम में सातवें स्थान पर रखा गया और राज्य सरकारें विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराती हैं

संविधान के अनुच्छेद 18(1) के अनुसार, भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति इस पुरस्कार का नाम अपने नाम के आगे या पीछे नहीं लिख सकता है. हालांकि अगर वह आवश्यक समझता है तो यह दर्शाने के लिए कि उसे ये अवॉर्ड मिला है तो इस तरह से लिखा जा सकता है:- ‘राष्ट्रपति द्वारा भारत रत्न से सम्मानित’ या ‘भारत रत्न प्राप्तकर्ता’

देश-विदेश की ताजा खबरें पढ़ने और अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter YouTube पर फॉलो व सब्सक्राइब करें।

Join Our WhatsApp Group For Latest & Trending News & Interesting Facts

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

spot_img

Recent Comments

Ankita Yadav on Kavya Rang : गजल